बिष्णुगढ के प्रवासी मजदूर मोतीलाल की मुंबई में मौत

0
200

 

*बिष्णुगढ़*: रोजगार की तलाश में दूसरे राज्य जानेवाले झारखंड के प्रवासी मजदूरों की मौत होने का सिलसिला नहीं थम रहा है।हजारीबाग जिले के बिष्णुगढ थाना अंतर्गत जोबर पंचायत के प्रवासी मजदूर 32 वर्षीय मोतीलाल सौरेन की बुधवार की रात मुंबई कल्याण में हाइवा केबिन में सीमेंटेड गेट का मलबा गिरने से मौत हो गया। सूचना मिलते ही गांव में मातम सा छा गया। स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।मृतक अपने पीछे पिता रगाई सौरेन,माता,पत्नी आरती देवी पुत्र नीतिश सौरेन(17) और मनिषा सौरेन (15) को छोड गया है।मोतीलाल सौरेन लगभग छह माह पहले ही रोजगार की तलाश में मुंबई के कल्याण गया था। वह वहां हाइवा ड्राइवर का काम कर परिवार का भरण-पोषण करता था। वह घर का अकेला कमाऊ सदस्य था। हादसे की सूचना जोबर मुखिया चेतलाल महतो ने प्रवासी मजदूरों के हितार्थ में कार्य करनेवाले सामाजसेवी सिकन्दर अली ने परिवार को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाते हुए कहा कि झारखंड के नौजवानों की मौत के मुंह में समा जाने की यह पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी कई लोगों की मौत हो चुकी है।सरकार मजदूर हित में कुछ पहल नहीं कर पा रही है और झारखंड से मजदूरों का पलायन तेजी से हो रहा है।ऐसे सरकार को प्रवासी मजदूरो के पलायन की दिशा में पहल करने की जरूरत है।उन्होंने कहा कि मृतक का शव मुंबई से उनके पैतृक गांव लाने के लिए हरसंभव मदद करने का प्रयास किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here