सारना धर्म कोड के साथ अन्य मांगो को लेकर भारत बंद के समर्थन में गुरूवार को बिष्णुगढ़ मुख्य मार्ग जाम किया जाएगा

0
140

प्रखंड स्थित डुमरिया टांड गांव में आदिवासी सेंगेल अभियान की एक बैठक की गई।जिसकी अध्यक्षता जिला सेंगेल अध्यक्ष बहराम हांसदा एवं संचालन सरना धर्म मंडवा अध्यक्ष बहाराम मरांडी ने किया। इस बैठक मे बंदी को लेकर चर्चा की गई.15जून 2023 गुरूवार को को बिष्णुगढ़ सातमील मे 6बजे सुबह से संध्या 6बजे तक 12घंटा रोड जामकर बंदी किया जायगा| इसे सम्बोधित करते हुए आदिवासी सेंगेल अभियान के बोकारो जोनल हेड आनंद टुडू ने कहा कि आज आदिवासी समाज बर्बादी के कगार पर खड़ा है। और इसके लिए 1. जेएमएम पार्टी और उसके अंध भक्त 2. वंशवाद मांझी परगना व्यवस्था 3.ईसाई मिशनरी आदि जिम्मेदार है। जहां जेएमएम पार्टी ने कभी भी समाज सुधार का काम जैसे समाज में नशापान, अंधविश्वास महिला विरोधी मानसिकता, वोट को हंड़िया दारू चखना रूपया पैसा में खरीद – विक्री का विरोध नहीं किया। प्रकृति पूजक आदिवासियों के लिए सरना धर्म कोड, झारखण्ड में संताली को प्रथम राजभाषा बनाने आदि काम नहीं किया। बल्कि इसके उल्टा कुर्मी को आदिवासी बनाने के लिए अनुशंसा कर असली आदिवासियों को फांसी के फंदे पर चढ़ाना, आदिवासियों के सबसे बड़े ईश्वर मरांग बुरू को जैनों को बेच कर आदिवासियों को मरने का काम किया है,इसी जेएमएम पार्टी केMLA/MP संताली भाषा ओलचिकी का विरोध कर रहे हैं।इसी तरह वंशवाद मांझी परगना व्यवस्था के लोग भी परंपरा के नाम पर नशापान (हंड़िया चोडोर)

अंधविश्वास डायन- प्रथा महिला विरोधी मानसिकता को जिंदा रखे है। और इसी तरह ईसाई बने आदिवासी भी आदिवासियत से ज्यादा ईसाईयत की चिंता करते हैं, संताली भाषा ओलचिकी लिपि का विरोध करते हैं। आदिवासी भाषा- संस्कृति से आदिवासियों को जड़ – मूल नष्ट करना चाहते हैं। इसलिए जेएमएम पार्टी के पतन के वगैर आदिवासियों का विकास असंभव है। मांझी परगना व्यवस्था में सुधार कर जनतंत्र संविधान कानून को लागू करना होगा।इसी प्रकार धर्म परिवर्तित ईसाई आदिवासी अपने मूल धर्म में वापस आएं वरना डिलिस्टिंग करना होगा।इन सबको बचने बचाने के लिए लगातार कार्यक्रम आन्दोलन कर रहे आदिवासी सेंगेल अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व सांसद सालखन मुर्मू को हरहाल में साथ देना होगा। इन्होंने आदिवासी समाज हित में अनेकों काम किए है आगे भी करेंगे।हरहाल में 2023 में सरना धर्म कोड लेने के लिए विश्व सरना धर्म कोड जनसभा 30 जून को ब्रिगेड परेड मैदान कलकत्ता चलें। और 15जून 2023 को भारत बंद का आह्वान आदिवासी सेंगेल अभियान ने किया है । जिसमे बंदी को सफल करने के लिए हज़ारीबाग जिला के बिभिन्न प्रखंड एवं बोकारो जोन से सारना धर्म प्रेमी एवं सेंगेल कार्य करता और नेता काफ़ी सख्या मे उपस्थित होंगे इस बैठक मे हजारीबाग जिला अध्यक्ष बहराम हांसदा व जिला सारना धर्म माड़वा अध्यक्ष बहराम मरांडी ने भी संबोधित किया। बैठक में बबुचंद मरांडी नरेश मरांडी सनीचर सोरेन सुनील मुर्मू के साथ अन्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here